पत्रकार सुलभ श्रीवास्तव हत्याकांड : प्रियंका गांधी ने लिखा योगी को पत्र, सीबीआई जांच की मांग

Journalist Sulabh Srivastava murder case: Priyanka Gandhi writes a letter to Yogi, demands CBI inquiry पूरे प्रदेश में शराब माफियाओं और प्रशासन का गठजोड़, खत्म हो गया है कानून का इक़बाल: प्रियंका गांधी मृतक परिवार को मिले न्याय, आर्थिक मदद भी करे सरकार: प्रियंका गांधी कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के निर्देश पर प्रतिनिधि मंडल पहुंचा …
 | 
पत्रकार सुलभ श्रीवास्तव हत्याकांड : प्रियंका गांधी ने लिखा योगी को पत्र, सीबीआई जांच की मांग

Journalist Sulabh Srivastava murder case: Priyanka Gandhi writes a letter to Yogi, demands CBI inquiry

पूरे प्रदेश में शराब माफियाओं और प्रशासन का गठजोड़, खत्म हो गया है कानून का इक़बाल: प्रियंका गांधी

मृतक परिवार को मिले न्याय, आर्थिक मदद भी करे सरकार: प्रियंका गांधी

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के निर्देश पर प्रतिनिधि मंडल पहुंचा प्रतापगढ़
मृतक पत्रकार सुलभ श्रीवास्तव के परिजनों से की मुलाकात, प्रतिनिधि मंडल ने प्रियंका गांधी के निर्देश पर परिजनों की आर्थिक मदद

दिल्ली/लखनऊ, 15 जून 2021। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की महासचिव प्रियंका गांधी ने यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्रकार सुलभ श्रीवास्तव हत्याकांड के मामले में पत्र लिखा है।

पत्र में महासचिव प्रियंका गांधी ने लिखा है कि एबीपी न्यूज के पत्रकार श्री सुलभ श्रीवास्तव की जनपद प्रतापगढ़ में दिनांक 13 जून की रात संदिग्ध हालत में मृत्यु हो गई। वे एक न्यूज कवर करके घर वापस लौट रहे थे। खबरों के अनुसार वे एक ईंट भट्ठे के पास मृत मिले। उनके सिर पर गहरी चोट के निशान थे।

प्रियंका गांधी ने लिखा है कि 12 जून को सुलभ श्रीवास्तव ने ADG प्रयागराज जोन को एक पत्र लिखा था। पत्र में उन्होंने पुलिस अधिकारी को लिखा कि स्थानीय शराब माफिया अवैध शराब पर उनकी न्यूज रिपोर्ट से नाराज हैं और उन्हें अपनी और अपने परिवार की सलामती की चिंता है। प्रशासन को पत्र भेजे जाने के एक दिन बाद ही संदिग्ध हालातों में वे मृत पाए गए।

पत्र में महासचिव प्रियंका गांधी ने लिखा है कि सुलभ श्रीवास्तव के परिजनों एवं पत्रकार साथियों ने इस मामले की CBI जाँच कर सच सामने लाने की माँग की है।

प्रियंका गांधी ने मुख्यमंत्री को भेजे पत्र में लिखा है कि उप्र में कई जगहों से जहरीली शराब से हुई मौतों की खबरें आई हैं। अलीगढ़ से लेकर प्रतापगढ़ तक जहरीली शराब के चलते सैकड़ों लोगों की मृत्यु हो चुकी है। ऐसे में एक पत्रकार द्वारा खबरें दिखाने को लेकर शराब माफ़ियाओं से ख़तरा होने की आशंका बताती है कि प्रदेश में कानून के राज इक़बाल खत्म हो चुका है। उप्र में बलिया, उन्नाव समेत कई जगहों पर पहले भी पत्रकारों पर हमले होते आए हैं।

प्रियंका गांधी ने पत्र लिखा है कि वह इस मामले की CBI जाँच करवाने की माँग करती हैं। प्रदेश भर जड़ जमा चुके शराब माफिया एवं प्रशासन के गठजोड़ पर कार्रवाई की जाए। इसके साथ पीड़ित परिवार और मृतक के आश्रितों को तुरंत आर्थिक मदद दी जाए।

पत्र के अंत में महासचिव प्रियंका गांधी ने लिखा है कि पत्रकारों और कलम के सिपाहियों को सुरक्षा देने का काम प्रदेश की कानून व्यवस्था का है। आशा है कि दिवंगत सुलभ श्रीवास्तव के परिवार को न्याय दिलाने की दिशा में आप सकारात्मक कदम उठाएँगे।

इसके साथ ही प्रियंका गांधी के निर्देश पर कांग्रेस का एक प्रतिनिधि मंडल आज प्रतापगढ़ पहुंचा, जिसने मृतक पत्रकार सुलभ श्रीवास्तव के परिजनों से मुलाकात की।

प्रतिनिधि मंडल ने प्रियंका गांधी के निर्देश पर परिजनों की आर्थिक मदद भी की। प्रतिनिधि मंडल में उपाध्यक्ष सुहेल अंसारी (विधायक) सुशील पासी, जिला अध्यक्ष बृजेंद्र मिश्रा समेत कई नेता शामिल थे।

पाठकों से अपील

Donate to Hastakshep

नोट - 'हस्तक्षेप' जनसुनवाई का मंच है। हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे।

OR

भारत से बाहर के साथी Pay Pal के जरिए सब्सक्रिप्शन ले सकते हैं।

Subscription