लखनऊ को सँवारने में शीला कौल का बड़ा योगदान – दीपा कौल

136 साल से देश को जोड़ने का काम कर रही है कांग्रेस – दीपा कौल शीला कौल की छठवीं पुण्यतिथि पर अल्पसंख्यक कांग्रेस ने आयोजित की वेबिनार लखनऊ, 13 जून 2021. पूर्व केंद्रीय मन्त्री शीला कौल की छठवीं पुण्यतिथि पर अल्पसंख्यक कांग्रेस द्वारा उनके व्यक्तित्व और विरासत पर वेबिनार आयोजित की गयी. शीला कौल की …
 | 
लखनऊ को सँवारने में शीला कौल का बड़ा योगदान – दीपा कौल

136 साल से देश को जोड़ने का काम कर रही है कांग्रेस – दीपा कौल

शीला कौल की छठवीं पुण्यतिथि पर अल्पसंख्यक कांग्रेस ने आयोजित की वेबिनार

लखनऊ, 13 जून 2021. पूर्व केंद्रीय मन्त्री शीला कौल की छठवीं पुण्यतिथि पर अल्पसंख्यक कांग्रेस द्वारा उनके व्यक्तित्व और विरासत पर वेबिनार आयोजित की गयी.

शीला कौल की बेटी पूर्व मन्त्री उत्तर प्रदेश सरकार दीपा कौल मुख्य अतिथि रहीं.

वरिष्ठ कांग्रेस नेता दीपा कौल ने कहा कि शीला जी सौ साल की उम्र तक जीवित रहीं और अंतिम समय तक वो कांग्रेस पार्टी के लिए काम करने को तत्पर रहती थीं. उनकी शख्सियत इतनी बड़ी थी कि एक बार अटल बिहारी वाजपेयी ने भी कहा था कि जब तक शीला कौल लखनऊ से चुनाव लड़ती रहेंगी वो वहां से नहीं लड़ेंगे.

दीपा कौल ने कहा कि लखनऊ को सँवारने में शीला कौल का बड़ा योगदान था.

नारायण दत्त तिवारी सरकार में मन्त्री रहीं दीपा कौल ने कहा कि कांग्रेस पिछले 136 साल से देश को जोड़ने का काम कर रही है. देश के विभिन्न वर्गों, धर्मों, जातियों, नस्लों, भाषाओं के लोगों के बीच समन्वय बनाना ही देश को एकजुट रखने की शर्त है. इस रास्ते पर बढ़ते रहना ही शीला जी को सच्ची श्रद्धांजलि होगी.

प्रोफेशनल कांग्रेस के उत्तर प्रदेश संयोजक और सेवा निवृत्त आईएएस अनीस अंसारी ने अलीगढ़ विश्वविद्यालय के अल्पसंख्यक दर्जे को बरक़ार रखने में शीला कौल के महत्वपूर्ण योगदान पर विस्तार से बात रखी.

संचालन वरिष्ठ कांग्रेस नेता और पूर्व प्रदेश महासचिव डॉ प्रदीप अरोड़ा ने किया.

उन्होंने कहा कि नेहरू परिवार का हिस्सा होने के बावजूद उन्होंने लखनऊ के पार्षद पद से अपनी सियासी जीवन की शुरुआत की जो उनके संघर्षशील व्यक्तित्व को रेखांकित करता है.

उन्होंने शीला कौल द्वारा दूसरे देशों में भारत के प्रतिनिधि के बतौर उठाये मुद्दों पर भी रोशनी डाली.

वेबिनार की अध्यक्षता अल्पसंख्यक कांग्रेस के प्रदेश चेयरमैन शाहनवाज़ आलम ने की. उन्होंने कहा कि शीला कौल जी का व्यक्तित्व कांग्रेसजनों को प्रेरित करता रहेगा.

वेबिनार में एड. आनंद मोहन गुप्ता, उत्तराखंड के पूर्व राज्य मंत्री फुरकान अली, उत्तराखंड के पूर्व मन्त्री आबिद हुसैन, जमाल अहमद, अमरोहा से अली हुसैन नक़वी, मेरठ से डॉक्टर ओ पी शर्मा, संजय शर्मा ऐड, मुकेश शर्मा, उत्तराखंड कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता मथुरा दत्त जोशी, अलीगढ़ विश्वविधालय के पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष महेंद्र रावत, कांग्रेस प्रदेश संगठन सचिव संजीव शर्मा, वसी अहमद रिज़वी, सेराज वली खान, शाद सिद्दीकी, खालिद मोहम्मद, मोहम्मद अहमद, किताबुल्ला अंसारी, अजय सारस्वत, मिथुन त्यागी, देवेंन्द्र गोएल नेता व्यापार संघ मेरठ, साइमन फारूकी, सलमान कादिर, मेराज वली खान, श्रेया चौधरी, सुधांशु उपाध्याय, हुमायूं बेग, ताहिर अंसारी आदि उपस्थित रहे.

पाठकों से अपील

Donate to Hastakshep

नोट - 'हस्तक्षेप' जनसुनवाई का मंच है। हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे।

OR

भारत से बाहर के साथी Pay Pal के जरिए सब्सक्रिप्शन ले सकते हैं।

Subscription