प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष की रिहाई के लिए सड़क पर उतरे कांग्रेसी, हजारों कार्यकर्ता व नेताओं को किया गया गिरफ्तार

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष की रिहाई के लिए सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते प्रदेश व्यापी मौन विरोध योगी सरकार के राजनीतिक द्वेष का दंश झेल रहे हैं प्रदेश अध्यक्ष अजय लल्लू : पंकज मलिक मजदूरों, गरीबों और वंचितों के साथी अजय कुमार लल्लू को मिलेगा न्याय : वीरेंद्र चौधरी राज्य मुख्यालय लखनऊ, 13 जून 2020 (तौसीफ …
 | 
प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष की रिहाई के लिए सड़क पर उतरे कांग्रेसी, हजारों कार्यकर्ता व नेताओं को किया गया गिरफ्तार

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष की रिहाई के लिए सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते प्रदेश व्यापी मौन विरोध

योगी सरकार के राजनीतिक द्वेष का दंश झेल रहे हैं प्रदेश अध्यक्ष अजय लल्लू : पंकज मलिक

मजदूरों, गरीबों और वंचितों के साथी अजय कुमार लल्लू को मिलेगा न्याय : वीरेंद्र चौधरी

राज्य मुख्यालय लखनऊ, 13 जून 2020 (तौसीफ कुरैशी)। उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी द्वारा चल रहे अभियान के तहत अजय कुमार लल्लू की रिहाई की मांग को लेकर पूरे सूबे में मौन प्रतिरोध हुआ। हर जिले में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की प्रतिमा पर कांग्रेसजनों ने सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए मौन प्रतिरोध जताया। जगह-जगह बर्बर पुलिसिया दमन हुआ, जो सरकार की तानाशाही को उजागर करता है। पूर्व विधायक एवं प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष पंकज मलिक और वीरेंद्र चौधरी ने बताया कि लखनऊ और वाराणसी समेत कई जिलों में तानाशाह योगी आदित्यनाथ की पुलिस ने सैकड़ों कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर लिया।

लखनऊ में पूर्व विधायक श्याम किशोर शुक्ला, वाराणसी में पूर्व विधायक अजय राय को सैकड़ों कार्यकर्ताओं समेत पुलिस ने गिरफ्तारी कर लिया।

जनपद फिरोजाबाद में जिलाध्यक्ष संदीप तिवारी, बिजनौर में जिलाध्यक्ष शेरबाज पठान, हरदोई में जिलाध्यक्ष आशीष कुमार सिंह, गौतमबुद्धनगर में जिलाध्यक्ष मनोज चौधरी को पुलिस द्वारा घर में जबर्दस्ती नजरबन्द कर दिया गया।

इसी क्रम में जनपद बांदा, ललितपुर, आगरा, मैनपुरी, मथुरा, कासगंज, एटा, हापुड़, गाजियाबाद, मेरठ, मुजफ्फरनगर, जौनपुर, गाजीपुर, चन्दौली, मऊ, बलिया, आजमगढ़ , मिर्जापुर, भदोही, बदायूं, पीलीभीत, बरेली, मुरादाबाद, सम्भल, अमरोहा, रामपुर, सीतापुर, लखीमपुर, उन्नाव, रायबरेली, फैजाबाद, गोण्डा, बस्ती, कुशीनगर, सिद्धार्थनगर, बलरामपुर, देवरिया, महराजगज, श्रावस्ती, हमीरपुर, झांसी, महोबा, चित्रकूट, कन्नौज, कानपुरनगर, कानपुर महानगर, कानपुर देहात, इलाहाबाद, कौशाम्बी, फतेहपुर, अलीगढ़, प्रतापगढ़, सोनभद्र सहित प्रदेश के सभी जनपदों में मौन विरोध का आयोजन हुआ।

आज के मौन विरोध में प्रदेश भर में हजारों कांग्रेसजनों को पुलिस ने गिरफ्तार किया। प्रदेश कांग्रेस के उपाध्यक्षों ने कहा कि दमन से कांग्रेस का सेवा कार्य नहीं रुकेगा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी जिम्मेदार विपक्ष की भूमिका निभा रही हैं लेकिन योगी आदित्यनाथ की सरकार राजनीतिक द्वेष और गरीब विरोधी रवैया अख्तियार किये हुए है। मजदूरों, गरीबों और जरूरतमंदों के साथी हमारे अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू को जरूर इंसाफ मिलेगा। प्रदेश अध्यक्ष के नेतृत्व में 90 लाख से अधिक लोगों को भोजन और राशन दिया गया। 10 लाख प्रवासी श्रमिकों को प्रदेश के बाहर मदद की गई।

प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष पंकज मलिक एवं वीरेन्द्र चौधरी ने जोर देकर कहा कि योगी सरकार के दमन से कांग्रेस पार्टी का सेवा कार्य नहीं रुकेगा। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष की जब तक रिहाई नहीं हो जाती कांग्रेसजनों का संघर्ष जारी रहेगा।

गिरफ्तार होने वालों में पूर्व विधायक श्याम किशोर शुक्ल, रमेश शुक्ला, प्रमोद सिंह, अनीस अंसारी, अभिमन्यु सिंह, दिलप्रीत सिंह, संजय शर्मा, वेद प्रकाश त्रिपाठी, राजेश सिंह काली, डॉ. शहजाद आलम, आरबी सिंह, शाहिद अली, इस्लाम अली, रईस अहमद, रंजीत कुमार, मुशर्रफ इमाम, संजय श्रीवास्तव, प्रभात गुप्ता, संजय कश्यप, अकबर खान, प्रदीप कनौजिया, हनुमान गौतम, रोशन यादव, संदीप पाल, मासूक अली, सुरेश पाल, राजेन्द्र पाण्डेय, सच्चिदानन्द, मुन्ना लाल भारती, सुशील तिवारी सोनू पंडित, वीरेन्द्र यादव, पीके गुप्ता, राजेश गौतम, गिरजाशंकर जायसवाल, जीवन श्रीवास्तव, शोएब खान, आलेख पाण्डेय, दुर्गविजय सिंह, शिवम त्रिपाठी, ज्ञानेश शुक्ला, अनस रहमान, संदीप पाल, लकी कुमार, मो तारिक एवं कार्तिकेय शुक्ला सहित सैंकड़ों कांग्रेसजन शामिल रहे।

पाठकों से अपील

Donate to Hastakshep

नोट - 'हस्तक्षेप' जनसुनवाई का मंच है। हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे।

OR

भारत से बाहर के साथी Pay Pal के जरिए सब्सक्रिप्शन ले सकते हैं।

Subscription