बिग ब्रेकिंग : उप्र में जंगलराज फैलता जा रहा है, क्राइम और कोरोना कंट्रोल से बाहर, प्रियंका ने फिर लिखी योगी को चिट्ठी

Priyanka Gandhi again writes to Yogi Adityanath on the poor state of law and order in UP लखनऊ, 01 अगस्त 2020. कांग्रेस महासचिव श्रीमती प्रियंका गांधी (Congress General Secretary, Mrs. Priyanka Gandhi) ने प्रदेश में बढ़ते जंगलराज और कानून व्यवस्था की लचर हालत (The poor state of law and order in UP) पर एक बार …
 | 
बिग ब्रेकिंग : उप्र में जंगलराज फैलता जा रहा है, क्राइम और कोरोना कंट्रोल से बाहर, प्रियंका ने फिर लिखी योगी को चिट्ठी

Priyanka Gandhi again writes to Yogi Adityanath on the poor state of law and order in UP

लखनऊ, 01 अगस्त 2020. कांग्रेस महासचिव श्रीमती प्रियंका गांधी (Congress General Secretary, Mrs. Priyanka Gandhi) ने प्रदेश में बढ़ते जंगलराज और कानून व्यवस्था की लचर हालत (The poor state of law and order in UP) पर एक बार फिर सीएम योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर चिंता जाहिर की।

संभल में रामौतार शर्मा की हत्या की घटना का उल्लेख करते हुए प्रदेश की बिगड़ चुकी कानून व्यवस्था को संज्ञान में लेने की अपील की।

प्राप्त जानकारी के अनुसार रामौतार शर्मा के हत्यारोपियों को पकड़ कर उनके परिवार को न्याय दिलाने व उनके परिवार को आर्थिक मदद करने की भी अपील पत्र में की गई है।

बिग ब्रेकिंग : उप्र में जंगलराज फैलता जा रहा है, क्राइम और कोरोना कंट्रोल से बाहर, प्रियंका ने फिर लिखी योगी को चिट्ठी इससे पहले आज सुबह प्रियंका ने ट्वीट किया था,

“उप्र में जंगलराज फैलता जा रहा है।

क्राइम और कोरोना कंट्रोल से बाहर है।

बुलंदशहर में श्री धर्मेन्द्र चौधरी जी का 8 दिन पहले अपहरण हुआ था। कल उनकी लाश मिली।

कानपुर, गोरखपुर, बुलंदशहर। हर घटना में कानून व्यवस्था की सुस्ती है और जंगलराज के लक्षण हैं।

पता नहीं सरकार कब तक सोएगी? “

पाठकों से अपील

Donate to Hastakshep

नोट - 'हस्तक्षेप' जनसुनवाई का मंच है। हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे।

OR

भारत से बाहर के साथी Pay Pal के जरिए सब्सक्रिप्शन ले सकते हैं।

Subscription