अभूतपूर्व 70 सालों में पहली बार : ‘शेम-शेम’ के नारों के बीच रंजन गोगोई ने राज्यसभा सदस्य की शपथ ले ही ली

Ranjan Gogoi takes oath as member of Rajya Sabha नई दिल्ली, 19 मार्च 2020. आखिरकार भारत के पूर्व प्रधान न्यायाधीश (CJI) रंजन गोगोई (Former Chief Justice of India Ranjan Gogoi) ने आज राज्यसभा के सदस्य के रूप में शपथ ले ली। इस दौरान राज्यसभा शेम-शेम के नारे से गूंज उठा। गोगोई को राज्यसभा सदस्य बनाए …
 | 
अभूतपूर्व 70 सालों में पहली बार : ‘शेम-शेम’ के नारों के बीच रंजन गोगोई ने राज्यसभा सदस्य की शपथ ले ही ली

Ranjan Gogoi takes oath as member of Rajya Sabha

नई दिल्ली, 19 मार्च 2020. आखिरकार भारत के पूर्व प्रधान न्यायाधीश (CJI) रंजन गोगोई (Former Chief Justice of India Ranjan Gogoi) ने आज राज्यसभा के सदस्य के रूप में शपथ ले ली। इस दौरान राज्यसभा शेम-शेम के नारे से गूंज उठा।

गोगोई को राज्यसभा सदस्य बनाए जाने को लेकर कांग्रेस समेत सभी विपक्षी दलों ने न्यायपालिका की स्वतंत्रता पर हमला बताकर इसकी आलोचना की है।

गोगोई को राज्यसभा सदस्य बनाए जाने को लेकर कांग्रेस समेत सभी विपक्षी दलों ने न्यायपालिका की स्वतंत्रता पर हमला बताकर इसकी आलोचना की है।

बता दें कि गोगोई को सोमवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने राज्यसभा के लिए नामित किया था। मुख्य न्यायाधीश के पद से सेवानिवृत्त होने से एक पहले गोगोई की अध्यक्षता वाली पांच जजों की पीठ ने अयोध्या मसले पर ऐतिहासिक फैसला सुनाया था।

चार महीने पहले शीर्ष न्यायालय के प्रधान न्यायाधीश पद से रिटायर हुए जस्टिस गोगोई ने अपनी नियुक्ति का बचाव करते हुए कहा था कि संसद में उनकी मौजूदगी विधायिका के सामने न्यायापालिका के रुख को रखने का एक अवसर होगी। उन्होंने कहा था कि न्यायपालिका और विधायिका को राष्ट्र निर्माण के लिए मिलकर काम करने की जरूरत है।

गोगोई ने कहा था कि राज्यसभा में अपनी मौजूदगी के जरिये वह न्यायपालिका के मुद्दों को असरदार तरीके से उठा सकेंगे।

यह भी पढ़ें –

जस्टिस काटजू ने फिर उड़ाईं रंजन गोगोई की धज्जियां, कहा ऐसी कोई बुराई नहीं जो इसमें न हो

 

रंजन गोगोई को मिला इनाम, जस्टिस काटजू बोले वतन की फिक्र कर नादां मुसीबत आने वाली है

 

पूर्व सीजेआई रंजन गोगोई को राज्यसभा भेजे जाने पर जस्टिस लोकुर ने पूछा – क्या आखिरी खंभा भी ढह गया?

 

सीजेआई गोगोई न्यायपालिका पर धब्बा थे, लेकिन बाकी जज सुप्रीम कोर्ट के चीर हरण को देखते हुए भीष्म पितामह की तरह क्यों खामोश थे ?

 

काटजू के इस नए आरोप से रंजन गोगोई की उड़ जाएगी रातों की नींद और दिन का चैन

 

एससी के पूर्व जज ने पूर्व सीजेआई गोगोई को बदमाश क्यों कहा ?

 

Rajya sabha Candidates, President Ramnath kovind, Ranjan Gogoi, Chief Justice Of India, CJI news in Hindi, Rajya sabha news in Hindi, Delhi news in Hindi, Ranjan Gogoi news,

पाठकों से अपील

Donate to Hastakshep

नोट - 'हस्तक्षेप' जनसुनवाई का मंच है। हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे।

OR

भारत से बाहर के साथी Pay Pal के जरिए सब्सक्रिप्शन ले सकते हैं।

Subscription