कोरोना वायरस : बेंगलुरु में सभी किंडरगार्टन स्कूल बंद

Corona virus: all kindergarten schools closed in Bengaluru बेंगलुरू, 9 मार्च 2020. देश में कोरोनावायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए एहतियात के तौर पर कर्नाटक सरकार ने सभी किंडरगार्टन स्कूलों को बंद करने की घोषणा कर दी है। प्राथमिक और माध्यमिक शिक्षा मंत्री एस. सुरेश कुमार (S.Suresh Kumar, Minister – Govt of Karnataka) ने …
 | 
कोरोना वायरस : बेंगलुरु में सभी किंडरगार्टन स्कूल बंद

Corona virus: all kindergarten schools closed in Bengaluru

बेंगलुरू, 9 मार्च 2020. देश में कोरोनावायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए एहतियात के तौर पर कर्नाटक सरकार ने सभी किंडरगार्टन स्कूलों को बंद करने की घोषणा कर दी है।

प्राथमिक और माध्यमिक शिक्षा मंत्री एस. सुरेश कुमार (S.Suresh Kumar, Minister – Govt of Karnataka) ने ट्वीट किया,

“स्वास्थ्य आयुक्त से प्राप्त निर्देश के अनुसार, उत्तरी एवं दक्षिणी बेंगलुरू और ग्रामीण जिलों में केजी/यूकेजी कक्षाओं के लिए छुट्टियां घोषित की गई हैं।”

हालांकि अभी तक स्पष्ट नहीं है कि प्री-प्राइमरी कक्षाओं की छुट्टियां कब तक रहेंगी। रविवार और सोमवार की दरम्यानी रात लिए गए इस निर्णय के बारे में कई परिवारों को जानकारी नहीं है।

इससे पहले राज्य स्वास्थ्य, परिवार कल्याण और आयुष सेवा आयुक्त पंकज कुमार पांडेय ने तेलंगाना, तमिलनाडु और केरल में कोरोनोवायरस के मामलों का हवाला देते हुए यह कदम उठाने के लिए कहा था।

उन्होंने कहा,

“यह अनुरोध किया जाता है कि कोरोनावायरस को फैलने से रोकने के लिए बीबीएमपी और बेंगलुरू के शहरी क्षेत्रों में प्री-किंडरगार्टन, एलकेजी और यूकेजी स्कूलों को तत्काल प्रभाव से अगले आदेश तक बंद किया जाए।”

There is no Corona virus case at ESI Hospital in Rajaji Nagar

मंत्री एस. कुमार ने ट्वीट किया कि

“ यह सच नहीं है कि राजाजीनगर में ईएसआई अस्पताल में कोरोनोवायरस का मामला है।

अस्पताल में ऐसा कोई मामला सामने नहीं आया है, स्वास्थ्य विभाग ने कहा।”

पाठकों से अपील

Donate to Hastakshep

नोट - 'हस्तक्षेप' जनसुनवाई का मंच है। हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे।

OR

भारत से बाहर के साथी Pay Pal के जरिए सब्सक्रिप्शन ले सकते हैं।

Subscription