भारत में कोविड-19 मामले : अमेरिका को पछाड़कर भारत बना विश्वगुरू, 24 घंटे में कोरोना के रिकॉर्ड 3.14 लाख से ज्यादा नए मामले, 2104 मरीजों ने दम तोड़ा

COVID19 Cases in India: India surpassed the US to become Vishwa Guru, Corona records more than 3.14 lakh new cases in 24 hours, 2104 patients succumbed नई दिल्ली, 22 अप्रैल 2021 (COVID-19 Cases in India): भारत में कोरोना की दूसरी लहर (Second wave of Corona virus In India) कहर बरपा रही है। पिछले 24 घंटे …
 | 
भारत में कोविड-19 मामले : अमेरिका को पछाड़कर भारत बना विश्वगुरू, 24 घंटे में कोरोना के रिकॉर्ड 3.14 लाख से ज्यादा नए मामले, 2104 मरीजों ने दम तोड़ा

COVID19 Cases in India: India surpassed the US to become Vishwa Guru, Corona records more than 3.14 lakh new cases in 24 hours, 2104 patients succumbed

नई दिल्ली, 22 अप्रैल 2021 (COVID-19 Cases in India): भारत में कोरोना की दूसरी लहर (Second wave of Corona virus In India) कहर बरपा रही है। पिछले 24 घंटे में कोरोना के नए मामलों ने विश्व के सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं और करीब 3.14 लाख नए मामले सामने आए हैं। किसी भी देश में यह एक दिन का सर्वाधिक मामला है.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से गुरुवार सुबह जारी आंकड़ों के अनुसार पिछले 24 घंटों के दौरान देश में 3,14,835 नये मामले आने के साथ ही संक्रमितों का आंकड़ा बढ़कर एक करोड़ 59 लाख 30 हजार 965 हो गयी। सक्रिय मामलों में लगातार बढ़ोतरी से इनकी संख्या 22,91,428 हो गयी है।

इसी अवधि में 2104 और मरीजों की मौत के साथ कोविड-19 से मरने वालों का आंकड़ा बढ़कर 1,84,657 हो गया है।

मंत्रालय के अनुसार, देश में कोविड-19 से मृत्यु दर 1.16 फीसदी हो गई है।

भारत में कोविड-19 के नए मामले पहली बार 3 लाख के आंकड़े को पार करते हुए अमेरिका के रोजाना केस के रिकॉर्ड को तोड़ दिया. इससे पहले, 8 जनवरी को अमेरिका में सबसे ज्यादा 3,07,581 नए मामले दर्ज किए गए थे।

भारत में अमेरिका से ज्यादा तेजी से नए मामलों की संख्या बढ़ी है और 1 लाख दैनिक मामलों से 3 लाख तक पहुंचने में सिर्फ 17 दिन का समय लगा है। इस दौरान दैनिक मामलों में रोजाना 6.76 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है। अमेरिका में 1 लाख से 3 लाख दैनिक मामले आने में 67 दिनों का समय लगा था और इस दौरान मामलों में रोजाना वृद्धि दर 1.58 फीसदी थी।

पाठकों से अपील

Donate to Hastakshep

नोट - 'हस्तक्षेप' जनसुनवाई का मंच है। हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे।

OR

भारत से बाहर के साथी Pay Pal के जरिए सब्सक्रिप्शन ले सकते हैं।

Subscription