जिनेवा के संयुक्त राष्ट्र कार्यालय में स्टाफ के नौ सदस्यों को हुआ कोरोना संक्रमण

Nine staff members at UN Office in Geneva contract coronavirus: official The United Nations Office in Geneva confirmed nine cases of coronavirus among its staff as of March 30, said Alessandra Vellucci, director of the UN Information Service in Geneva, on Tuesday. नई दिल्ली, 1 अप्रैल 2020. जिनेवा में संयुक्त राष्ट्र के कार्यालय ने 30 …
 | 
जिनेवा के संयुक्त राष्ट्र कार्यालय में स्टाफ के नौ सदस्यों को हुआ कोरोना संक्रमण

Nine staff members at UN Office in Geneva contract coronavirus: official

The United Nations Office in Geneva confirmed nine cases of coronavirus among its staff as of March 30, said Alessandra Vellucci, director of the UN Information Service in Geneva, on Tuesday.

नई दिल्ली, 1 अप्रैल 2020. जिनेवा में संयुक्त राष्ट्र के कार्यालय ने 30 मार्च तक अपने कर्मचारियों में कोरोनोवायरस के नौ मामलों की पुष्टि की है। यह बात जिनेवा में संयुक्त राष्ट्र सूचना सेवा के निदेशक एलेसेंड्रा वेल्लुसी ने कही।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, जिनेवा में संयुक्त राष्ट्र के मान्यता प्राप्त पत्रकारों को लिखे पत्र में वेल्लुची ने मंगलवार को कहा कि मरीजों की गोपनीयता का सम्मान करने के लिए इस समय हम आगे की जानकारी नहीं देंगे। हालांकि, हर मामले में “सभी एहतियाती कदम उठाए गए हैं।”

उन्होंने कहा,

“संयुक्त राष्ट्र, देश में रोकथाम और तैयारियों पर स्विट्जरलैंड सरकार और विश्व स्वास्थ्य संगठन के साथ मिलकर काम कर रहा है।”

इससे पहले 28 मार्च को वेल्लुची ने एक प्रेस ब्रीफिंग में कहा था कि दुनियाभर में संयुक्त राष्ट्र के 78 कर्मचारियों में कोरोनावायरस संक्रमण की पुष्टि हुई है।

जिनेवा में संयुक्त राष्ट्र कार्यालय के अलावा, अंतर्राष्ट्रीय श्रम संगठन, विश्व व्यापार संगठन और साथ ही विश्व स्वास्थ्य संगठन के कर्मचारियों और सदस्यों में भी कोविड-19 के मामले रिपोर्ट हुए हैं।

अब जिनेवा स्थित संयुक्त राष्ट्र कार्यालय ने भी बाकी संयुक्त राष्ट्र के कर्मचारियों की तरह कोरोना के प्रसार को रोकने के प्रयासों में योगदान देने के कार्यालयों में आने वाले लोगों की संख्या कम करने की घोषणा की है।

मंगलवार की सुबह तक 80.5 लाख की आबादी वाले स्विट्जरलैंड में कोविड-19 के 16,176 मामलों और 373 मौतों की पुष्टि हो चुकी थी।

पाठकों से अपील

Donate to Hastakshep

नोट - 'हस्तक्षेप' जनसुनवाई का मंच है। हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे।

OR

भारत से बाहर के साथी Pay Pal के जरिए सब्सक्रिप्शन ले सकते हैं।

Subscription