आतंकवाद के नाम पर फंसाए गए शकील और बशीर की रिहाई के लिए सम्मेलन 13 को

लखनऊ, 12 फरवरी। रिहाई मंच गुरूवार 13 फरवरी को कुतुबपुर, बिसवां में एक जनसम्मेलन का आयोजन कर सीतापुर से आतंकवाद के नाम पर कैद निर्दोष मोहम्मद शकील और बशीर हसन की रिहाई की माँग करेगा। रिहाई मंच के अध्यक्ष मोहम्मद शुऐब ने कहा कि सपा सरकार ने विधान सभा चुनाव में वादा किया था कि …
 | 

लखनऊ, 12 फरवरी। रिहाई मंच गुरूवार 13 फरवरी को कुतुबपुर, बिसवां में एक जनसम्मेलन का आयोजन कर सीतापुर से आतंकवाद के नाम पर कैद निर्दोष मोहम्मद शकील और बशीर हसन की रिहाई की माँग करेगा।

रिहाई मंच के अध्यक्ष मोहम्मद शुऐब ने कहा कि सपा सरकार ने विधान सभा चुनाव में वादा किया था कि आतंकवाद के नाम पर कैद बेगुनाहों को छोड़ दिया जाएगा लेकिन इसके विपरीत इन दोनों बेकसूर नौजवानों समेत कश्मीर निवासी आजमगढ़ के जामतुलफलाह के दो छात्रों वसीम बट्ट और सज्जाद बट्ट को इसी सरकार ने आतंकवाद के झूठे आरोप में फँसा दिया। जो साबित करता है कि सपा ने सिर्फ वोटों के लिये मुसलमानों को गुमराह किया था।

मोहम्मद शुएब ने कहा कि बशीर और शकील के परिजन कई बार सपा सरकार के नुमाइंदों राजेंद्र चौधरी और अबु आसिम आजमी से मिल चुके हैं जिन्होंने सिर्फ उन्हें आश्वासन दिया जिसके चलते आज भी दोनों युवक बेगुनाह होते हुये भी जेल में सड़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि सपा सरकार की इस वादा खिलाफी और दोनों बेगुनाहों की रिहाई के सवाल पर कल जन जागरूकता अभियान के तहत उनके गांव कुतुबपुर में सम्मेलन किया जायेगा।