‘घर घर मोदी’ क्यों होना चाहिए? क्या लोगों के घरों में उनके अपने देवता नहीं हैं?

भगवान राम के नाम का इस्तेमाल करने के बाद शंकर भगवान के नाम का इस्तेमाल करने की कसम ले ली है भाजपा ने भाजपा के प्रत्याशी महेश गिरी से सोशलिस्ट पार्टी के उम्मीदवार डॉ. प्रेम सिंह के 10 सवाल: नई दिल्ली। सोशलिस्ट पार्टी के पूर्वी दिल्ली से उम्मीदवार डॉ. प्रेम सिंह ने भाजपा प्रत्याशी महेश …
 | 

भगवान राम के नाम का इस्तेमाल करने के बाद शंकर भगवान के नाम का इस्तेमाल करने की कसम ले ली है भाजपा ने
भाजपा के प्रत्याशी महेश गिरी से सोशलिस्ट पार्टी के उम्मीदवार डॉ. प्रेम सिंह के 10 सवाल:
नई दिल्ली। सोशलिस्ट पार्टी के पूर्वी दिल्ली से उम्मीदवार डॉ. प्रेम सिंह ने भाजपा प्रत्याशी महेश गिरी से सवाल किया है कि जनसंघ/भाजपा की पितृसंस्था आरएसएस ने आजादी के आंदोलन में हिस्सा न लेकर अंग्रेजों का साथ दिया था। ऐसे संगठन का सदस्य अगर देश का प्रधानमंत्री बनेगा तो क्या आजादी के शहीदों का अपमान नहीं होगा?
आज यहां जारी एक खुले पत्र में डॉ. प्रेम सिंह ने भाजपा प्रत्य़ाशी से पूछा है कि ‘हर हर मोदी’ के नारे में क्या ‘देवों के देव’ महादेवश्शंकर का अपमान नहीं है? भगवान राम के नाम का इस्तेमाल करने के बाद क्या आप लोगों ने शंकर भगवान के नाम का इस्तेमाल करने की कसम ले ली है? डॉ. प्रेम सिंह द्वारा पूछे गए 10 सवाल निम्न हैं-
1.            भाजपा के सदस्य आप कब से हैं?
2.            आपने कभी राजनीतिक काम नहीं किया है। बिना राजनीतिक ज्ञान और अनुभव के आप क्षेत्र के निवासियों की सेवा कैसे कर पाएंगे? क्या आप नेताओं को ‘आर्ट आॅफ लिविंग’ का कोर्स सिखाने के लिए संसद में जाना चाहते हैं?
3.            क्या भाजपा के कार्यकर्ता अंदरखाने आपका ऊपर से थोपे गए उम्मीदवार के रूप में विरोध कर रहे हैं?
4.            आरएसएस/भाजपा भारत के संविधान को नहीं मानते। क्या आपकी भी यही मान्यता है?
5.            जनसंघ/भाजपा की पितृसंस्था आरएसएस ने आजादी के आंदोलन में हिस्सा न लेकर अंग्रेजों का साथ दिया था। ऐसे संगठन का सदस्य अगर देश का प्रधानमंत्री बनेगा तो क्या आजादी के शहीदों का अपमान नहीं होगा?
6.            कारपोरेट घरानों से नरेंद्र मोदी और आपको किस रूप में कितनी ‘सहयोग राशि’ मिल रही है?
7.            देश के सबसे बड़े अल्पसंख्यक समाज के लिए आपका कया संदेश है?
8.            जिस देश में अर्जुनसेन गुप्ता कमेटी की रपट के मुताबिक 78 प्रतिशत लोग 20 रुपया रोज पर गुजारा कर रहे हैं, नरेंद्र मोदी और आपका करोड़ों के खर्च और डिजाइनर कपड़ों में विज्ञापन करना क्या मेहनतकश गरीब जनता का अपमान नहीं है?
9.            ‘घर घर मोदी’ क्यों होना चाहिए? क्या लोगों के घरों में उनके अपने देवता नहीं हैं? क्या आपका प्रधानमंत्री का उम्मीदवार, जो एक सामान्य राजनेता है, सभी हिंदुओं के घरों का देवता बनना चाहता है?
10.          ‘हर हर मोदी’ के नारे में क्या ‘देवों के देव’ महादेवश्शंकर का अपमान नहीं है? भगवान राम के नाम का इस्तेमाल करने के बाद क्या आप लोगों ने शंकर भगवान के नाम का इस्तेमाल करने की कसम ले ली है?