क्रोनिक किडनी डिजीज और सेप्सिस

Sepsis and Kidney Failure ऑर्न फेल्योर (अंग विफलता) सेप्सिस का एक हॉलमार्क है। सेप्सिस जैसे ही शरीर पर आक्रमण करता है और इंफेक्शन फैलना शुरू होता है, शरीर के अंग काम करना बंद करते चले जाते हैं। इस आक्रमण का पहला शिकार अक्सर गुर्दे होते हैं। नेशनल किडनी फाउंडेशन के अनुसार, गंभीर किडनी की चोट- …
 | 
क्रोनिक किडनी डिजीज और सेप्सिस

Sepsis and Kidney Failure

ऑर्न फेल्योर (अंग विफलता) सेप्सिस का एक हॉलमार्क है। सेप्सिस जैसे ही शरीर पर आक्रमण करता है और इंफेक्शन फैलना शुरू होता है, शरीर के अंग काम करना बंद करते चले जाते हैं। इस आक्रमण का पहला शिकार अक्सर गुर्दे होते हैं।

नेशनल किडनी फाउंडेशन के अनुसार,  गंभीर किडनी की चोट- acute kidney injury (जिसे एकेआई भी कहा जाता है) के प्रमुख कारणों में से एक सेप्सिस है। कुछ अध्ययनों से पता चलता है कि एकेआई के 32% से 48% मामलों का मुख्य कारण सेप्सिस होता है।

सेप्सिस गुर्दे को कैसे प्रभावित करता है

How sepsis affects the kidneys

सेप्सिस दो तरह से गुर्दों पर आक्रमण करता है। 

पहला यह है कि संक्रमण से गुर्दे में सेप्सिस शुरू होता है।

दूसरा यदि सेप्सिस से होने वाली घटनाओं का कास्केड गुर्दे की क्षति का कारण बनता है।

सेप्सिस और सेप्टिक शॉक में, आपका रक्तचाप खतरनाक रूप से कम हो जाता है। चूँकि रक्त का उतनी गति से शरीर में प्रवाह नहीं हो पाता, जितना होना चाहिए, जिसके चलते यह शरीर के अवयवों और ऊतकों को आवश्यक पोषक तत्वों को वितरित नहीं कर पाता।

ठीक इसी समय रक्तवाहिन्यों में थक्के जमना शुरू हो जाते हैं (जिसे प्रसारित इंट्रावास्कुलर कोगुलेशन disseminated intravascular coagulation, or DIC, या डीआईसी कहा जाता है।

एक्यूट किडनी फेल्योर के अन्य संभावित लक्षण हैं

सांस लेने में कठिनाई

मतिभ्रम

थकान

जी मिचलाना

दौरा पड़ना

मूत्र और रक्त परीक्षण से डॉक्टरों को पता चलता है कि आपके गुर्दे कितने अच्छी तरह काम कर रहे हैं, निदान और उपचार के दौरान कई नमूने लिये जाते हैं।

पोस्ट-सेप्सिस किडनी फ़ंक्शन

सेप्सिस से उबरने के बाद भी कुछ लोगों में गुर्दे संबंधी परेशानियां बनी रहती हैं। यदि स्पेसिस के कारण गुर्दों को स्थायी क्षति पहुंची है तो रोगी को लगातार गुर्दों औररक्त की जाँच करनी पड़ती रहेगी।

(नोट – यह समाचार चिकित्सकीय परामर्श नहीं है, यह आम जनता में जागरुकता के उद्देश्य से किए गए अध्ययन का सार है। आप इसके आधार पर कोई निर्णय न लें, चिकित्सक से परामर्श करें।)

ज़रा हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें

Related topics – सेप्टिसीमिया, सेप्सिस, WHAT IS SEPSIS?, SYMPTOMS of SEPSIS, gangrene, septicemia meaning in hindi, HOW TO SPOT SEPSIS IN ADULTS, HOW TO SPOT SEPSIS IN CHILDREN, what is septicemia infection in hindi, septicemia disease in hindi, What is septicemia infection, Septicemia definition and meaning, सेप्टिसीमिया इन हिंदी, Septicemia in Hindi,  septic meaning in hindi, blood infection in hindi, septicemia treatment in hindi,

इनपुट सेप्सिस.ओआरजी से भी साभार

पाठकों से अपील

Donate to Hastakshep

नोट - 'हस्तक्षेप' जनसुनवाई का मंच है। हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे।

OR

भारत से बाहर के साथी Pay Pal के जरिए सब्सक्रिप्शन ले सकते हैं।

Subscription