बर्खास्त की जाए पीडीपी-बीजेपी सरकार – पैंथर्स सुप्रीमो

विधानसभा चुनाव में भाग लेने का किया हुर्रियत कांफ्रेंस से आग्रह श्रीनगर। आज सुबह श्रीनगर (कश्मीर) में एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए नेशनल पैंथर्स पार्टी सुप्रीमो प्रो.भीमसिंह ने मांग की कि नए चुनावों में कोई देरी नहीं होनी चाहिए, क्योंकि वर्तमान पीडीपी-भाजपा सरकार पूर्णरूप से विफल हो चुकी है और राज्य में कोई …
 | 

विधानसभा चुनाव में भाग लेने का किया हुर्रियत कांफ्रेंस से आग्रह

श्रीनगर। आज सुबह श्रीनगर (कश्मीर) में एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए नेशनल पैंथर्स पार्टी सुप्रीमो प्रो.भीमसिंह ने मांग की कि नए चुनावों में कोई देरी नहीं होनी चाहिए, क्योंकि वर्तमान पीडीपी-भाजपा सरकार पूर्णरूप से विफल हो चुकी है और राज्य में कोई शासन नाम की चीज नहीं है। प्रो.भीमसिंह ने पाक-अधिकृत कश्मीर सीमा पर स्थित टंगधार में आयोजित राज्य सम्मलेन में भाग लिया, जहां 1947 के बाद से ही ना शासन है, खराब मौसम और पिछड़े क्षेत्र के कारण टंगधार के निवासियों की स्थिति दयनीय है। पैंथर्स पार्टी ने पूरे टंगधार क्षेत्र को अनुसूचित जनजाति की दर्जा दिलाने और कटे हुए क्षेत्र के लिए राज्य विधानसभा बनाने की मांग की। प्रो.भीमसिंह ने टंगधार में स्थानीय सिख समुदाय, जो 1947 के बाद से ही दयनीय स्थिति में जीवित रहे हैं, जिसकी केंद्र और राज्य सरकारों, दोनों ने उपेक्षा की है। प्रो.भीमसिंह ने अपनी शूरवीर भूमिका के लिए और क्षेत्र में एक भाईचारे के माहौल को फैलाने के लिए स्थानीय सिख समुदाय को बधाई दी।

प्रो.भीमसिंह ने कहा कि घाटी में छात्रों और नाबालिग बच्चों के खिलाफ कुछ मामलों को वापस करना पर्याप्त नहीं है, उन्होंने बताया कि 2005 से 2007 से पैंथर्स पार्टी के कार्यकर्ताओं के खिलाफ मुकदमे रियासी, कटरा, जम्मू, पुंछ और किश्तवाड़ आदि में लंबित हैं, को भी वापस लिया जाना चाहिए। ज्यादातर पैंथर्स पार्टी के युवा लड़के और लड़कियों को कांग्रेस नेतृत्व वाली जम्मू-कश्मीर सरकार ने फंसाया था, जब श्री गुलाम नबी आजाद मुख्यमंत्री थे। सभी आपराधिक मामलों (हत्या, डकैती व राज्य के खिलाफ षडयंत्रों को छोड़कर) को तत्काल वापस लिया जाना चाहिए। ।

प्रो.भीमसिंह ने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि कश्मीर घाटी में हिंसा समाप्त हो जाएगी, जब भारत के संविधान के अध्याय-3 (अनुच्छेद 11 से 35) में दिये गये मौलिक अधिकार जम्मू-कश्मीर राज्य के प्रत्येक निवासी को प्रदान किए जाएंगे। प्रो.भीमसिंह ने घोषणा की कि पैंथर्स पार्टी दिसंबर में कश्मीर घाटी में एक राज्य सम्मलेन आयोजित करेगी। हुर्रियत कांफ्रेंस सहित सभी सामाजिक और राजनीतिक दलों के सभी दलों को जम्मू-कश्मीर के सभी निवासियों के लिए मौलिक अधिकारों पर एक संयुक्त योजना तैयार करने के लिए आमंत्रित किया जाएगा।

प्रो.भीमसिंह ने प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी पर पुरानी सरकारों की तरह गलतियों दोहराने का आरोप लगाया। उन्होंने जम्मू-कश्मीर में पांचवे वार्ताकार को जम्मू-कश्मीर के लोगों के खिलाफ एक पुराना षड्यंत्र बताया। प्रो.भीमसिंह ने वार्ताकार को खारिज करते हुए कहा कि शांति और विकास के लिए जम्मू-कश्मीर के लोगों की भागीदारी केवल विधानसभा और संसद के लोकतांत्रिक चुनावों के माध्यम से संभव होगी। उन्होंने देश के बाकी हिस्सों में भारतीय नागरिकों के लिए उपलब्ध सभी मौलिक अधिकारों के साथ लोकतंत्र को बहाल करने के लिए आंदोलन में शामिल होने के लिए हुर्रियत कांफ्रेंस सहित जम्मू-कश्मीर के सभी राजनीतिक वर्गों से भी अपील की।

इस संवाददाता सम्मेलन में भाग लेने वालों में सर्वश्री श्री मसूद अंद्राबी, श्री मंजूूर नाइक, मंजूर मलिक, श्री जहांगीर खान और अन्य प्रमुख्य थे।