पूनावाला देश छोड़कर क्यों भागा, मोदी सरकार जवाब दो ! कौन लोग हैं जो पूनावाला को परेशान करते रहे हैं ?

Why did Poonawalla run away from the country, Modi government should answer! Who are the people who have been harassing Poonawala? Adar Poonawalla on vaccine pressure in India अदार पूनावाला का एक अंग्रेज़ी अखबार दिया गया इंटरव्यू (An English newspaper interview of Adar Poonawalla) पढ़ें और इसे सही राजनीतिक परिप्रेक्ष्य में समझें। पूनावाला ने इस …
 | 
पूनावाला देश छोड़कर क्यों भागा, मोदी सरकार जवाब दो ! कौन लोग हैं जो पूनावाला को परेशान करते रहे हैं ?

Why did Poonawalla run away from the country, Modi government should answer! Who are the people who have been harassing Poonawala?

Adar Poonawalla on vaccine pressure in India

अदार पूनावाला का एक अंग्रेज़ी अखबार दिया गया इंटरव्यू (An English newspaper interview of Adar Poonawalla) पढ़ें और इसे सही राजनीतिक परिप्रेक्ष्य में समझें। पूनावाला ने इस इंटरव्यू में बहुत बड़ा विस्फोट किया है।

असल बात यह है कोरोना राष्ट्रीय समस्या है और इसकी जवाबदेही पीएम नरेन्द्र मोदी की है, लेकिन उन्होंने चालाकी से वैक्सीन की ज़िम्मेदारी अपने कंधे से उतारकर सीरम इंस्टीट्यूट के ऊपर लाद दी है जो ग़लत है। पूनावाला ने इस तथ्य को रेखांकित करके साफ़ संकेत दिए हैं कि वह असुरक्षित है।

सीरम इंस्टीट्यूट वैक्सीन के उत्पादन  लिए ज़िम्मेदार  है, लेकिन वैक्सीन नीति के लिए जिम्म्मेदार नहीं है। वैक्सीन नीति के लिए जिम्मेदार पीएम हैं जिन्होंने अनियोजित ढंग से वैक्सीन की घोषणाएँ कर दीं।

पूनावाला कहते हैं कि वे अब भारत नहीं लौटेंगे। इसका अर्थ यह है मोदी सरकार पूनावाला को सुरक्षा और भरोसा देने में एकदम विफल रही है।

पूनावाला का लंदन जाना और यह कहना कि वह नहीं लौटेंगे, नए संदेश दे रहा है। कौन लोग हैं जो पूनावाला को परेशान करते रहे हैं,वैक्सीन देने के लिए दवाब डालते रहे हैं।

वे कौन बड़े और ख़तरनाक लोग हैं उनको सुप्रीम कोर्ट एक्सपोज करे। पूनावाला के ईमेल-एसएमएस और फ़ोन नम्बर की सुप्रीमकोर्ट के ज़रिए तुरंत जाँच की जानी चाहिए। पूनावाला से उन लोगों के नाम पूछे जाने चाहिए जिनके डर और दवाब में वे भारत छोड़कर जाने को मजबूर हुए।

हमारा अनुमान है वैक्सीन की आड़ में एक बड़ा गिरोह सक्रिय है जो उसी तरह धन कमाना चाहता है जैसे उसने अरबों रुपये नोटबंदी में कमाए थे। इस तरह के लोग सत्ताधारी भाजपा से जुड़े हो सकते हैं, अन्य दल से जुड़े भी हो सकते हैं। उन सबके नाम सामने आने चाहिए, उनकी तत्काल गिरफ़्तारी होनी चाहिए। पूनावाला के इंटरव्यू का सुप्रीम कोर्ट संज्ञान ले।

(प्रोफेसर जगदीश्वर चतुर्वेदी की एफबी टिप्पणी का संपादित रूप साभार) 

Topics – Adar Poonawalla news in Hindi, Adar Poonawalla latest news in Hindi.

पाठकों से अपील

Donate to Hastakshep

नोट - 'हस्तक्षेप' जनसुनवाई का मंच है। हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे।

OR

भारत से बाहर के साथी Pay Pal के जरिए सब्सक्रिप्शन ले सकते हैं।

Subscription