नए जातीय समीकरण की ओर यूपी की राजनीति

हम बात कर रहे हैं उत्तर प्रदेश में जाति की राजनीति की। बहुजन समाज पार्टी 23 जुलाई से 29 जुलाई तक अयोध्या में 'ब्राह्मण सम्मेलन' करेगी। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 से पहले सवर्ण समुदाय।
 | 
नए जातीय समीकरण की ओर यूपी की राजनीति
 UP Election toward new caste equation| Brahmin Politics in UP | BSP

इस कड़ी में हम बात कर रहे हैं उत्तर प्रदेश में जाति की राजनीति की। बहुजन समाज पार्टी 23 जुलाई से 29 जुलाई तक अयोध्या में 'ब्राह्मण सम्मेलन' करेगी। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 से पहले सवर्ण समुदाय। बसपा प्रमुख और यूपी की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा को आयोजन की जिम्मेदारी सौंपी है।

देखिए यह विश्लेषण -

पाठकों से अपील

Donate to Hastakshep

नोट - 'हस्तक्षेप' जनसुनवाई का मंच है। हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे।

OR

भारत से बाहर के साथी Pay Pal के जरिए सब्सक्रिप्शन ले सकते हैं।

Subscription